February 26, 2021

उत्तराखंड के नैनीताल जिले में देश का पहला मॉस गार्डन तैयार

देहरादून, 21 नवम्बर उत्तराखंड में नैनीताल जिले के खुर्पाताल में भारत का पहला ‘मॉस गार्डन’ विकसित किया गया है। अधिकारियों ने शनिवार को यह जानकारी दी।
उत्तराखंड वन विभाग में नवनिर्मित मॉस गार्डन को लोगों को समर्पित कर दिया गया है, इस गार्डन के संदर्भ दावा किया जा रहा है कि यह देश का पहला ऐसा उद्यान है, जो कुमाऊं के नैनीताल जिले में 10 हेक्टेयर में फैला है। मुख्य वन संरक्षक संजीव चतुर्वेदी ने बताया कि इस गार्डन को उत्तराखंड वन विभाग की अनुसंधान सलाहकार समिति द्वारा सीएएमपीए योजना के तहत पिछले साल जुलाई में मंजूरी दी गई थी। उन्होंने बताया कि देश के पहले मॉस गार्डन का उद्घाटन शुक्रवार को प्रसिद्ध जल संरक्षण कार्यकर्ता राजेंद्र सिंह ने किया।
उन्होंने कहा कि मॉस एक तरह की काई होती है जो दीवारों और पेड़ों पर हरे रंग की दिखाई देती है। इसका औषधि में बहुतायत में इस्तेमाल होता है।
राज्य वन विभाग की अनुसंधान इकाई के प्रमुख चतुर्वेदी ने कहा कि उद्यान विकसित करने के पीछे मुख्य उद्देश्य ‘मॉस’ और अन्य ब्रायोफाइट्स की विभिन्न प्रजातियों का संरक्षण करना और पर्यावरण में इसके महत्व से लोगों को अवगत कराना है।
मॉस गार्डन, खुर्पाताल में मॉस की लगभग 30 विभिन्न प्रजातियां और कुछ अन्य ब्रायोफाइट प्रजातियां हैं। उन्होंने बताया कि यहां पाई जाने वाली दो प्रकार की मॉस प्रजातियां यानी ह्योफिला इन्वोल्टा (सीमेंट मॉस) और प्रकृति के संरक्षण के लिए अंतरराष्ट्रीय संघ (आईयूसीएन) की लाल सूची में शामिल ब्राचिथेलेशियम बुकानानी फिगर है। उन्होंने कहा कि यहां 1.2 किलोमीटर के क्षेत्र में ‘मॉस’ की विभिन्न प्रजातियां हैं और इनके सबंध में वैज्ञानिक जानकारी प्रदर्शित की गई है।