March 2, 2021

केंद्र ने बेहतर प्रदर्शन करने वाले 10 पुलिस थानों की घोषणा की, मणिपुर का नोंगपोसेक्‍मी शीर्ष पर

केंद्रीय गृह मंत्रालय ने बृहस्पतिवार को बताया कि मणिपुर के थौबल जिले में नोंगपोसेक्‍मी को सबसे बेहतर प्रदर्शन करने वाले थाने के तौर पर चुना गया है | इसके बाद तमिलनाडु के सलेम सिटी में एडब्‍ल्‍यूपीसी- सुरामंगलम थाना और अरुणाचल प्रदेश के चांगलांग खारसांग थाने को चुना गया है |

देश में बेहतर प्रदर्शन करने वाले टॉप-10 थानों के नाम का ऐलान किया गया है। केंद्रीय गृह मंत्रालय ने गुरुवार को बताया कि मणिपुर के थौबल जिले में नोंगपोसेक्‍मी को सबसे बेहतर प्रदर्शन करने वाले थाने के तौर पर चुना गया है। इसके बाद तमिलनाडु के सलेम सिटी में एडब्‍ल्‍यूपीसी- सुरामंगलम थाना और अरुणाचल प्रदेश के चांगलांग खारसांग थाने को चुना गया है । वर्ष 2020 के लिए देश के 16671 थानों में से 10 शीर्ष पुलिस थाने चुने गए हैं।

शीर्ष पुलिस थानों में इसके बाद क्रमवार छत्तीसगढ़ में सूरजपुर झिलमिल (भैया थाना), गोवा में संगुइम, अंडमान और निकोबार द्वीप समूह में कालीघाट, सिक्किम में पूर्वी पाकयोंग, उत्तर प्रदेश के मुरादाबाद में कांठ, दादर और नगर हवेली में खानवेल और तेलंगाना के करीमनगर जिले का जम्मीकुंटा टाउन थाना शामिल हैं । गृह मंत्रालय द्वारा जारी एक बयान में कहा गया, ‘केंद्र सरकार प्रतिवर्ष देश में बेहतर प्रदर्शन करने वाले पुलिस थानों का चयन करती है ताकि उनके काम-काज को प्रभावी बनाने की दिशा में प्रोत्‍साहित कर उनके बीच स्‍वस्‍थ प्रतिस्‍पर्धा विकसित की जा सके।’

गृह मंत्रालय द्वारा जारी एक बयान में कहा गया, ‘‘केंद्र सरकार प्रतिवर्ष देश में बेहतर प्रदर्शन करने वाले पुलिस थानों का चयन करती है ताकि उनके काम-काज को प्रभावी बनाने की दिशा में प्रोत्‍साहित कर उनके बीच स्‍वस्‍थ प्रतिस्‍पर्धा विकसित की जा सके |’’

प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने गुजरात के कच्‍छ में वर्ष 2015 में पुलिस महानिदेशकों की बैठक को संबोधित करते हुए जो निर्देश दिए थे, यह उन्‍हीं के अनुरूप है | प्रधानमंत्री ने कहा था कि पुलिस थानों के चयन के लिए उपयुक्‍त मानकों को बनाया जाना चाहिए और लोगों से थानों के बारे में प्राप्‍त प्रतिक्रि‍या के आधार पर उनके प्रदर्शन का आकलन किया जाए |

डीजीपी और आईजीपी के 55 वें वार्षिक सम्मेलन के दौरान बेहतरीन प्रदर्शन करने वाले 10 पुलिस थानों के नामों की घोषणा की गयी | कोरोना वायरस महामारी के बीच पहली बार इस सम्मेलन का आयोजन डिजिटल तरीके से किया जा रहा है |