May 7, 2021

अहम खबर घर बैठे इन तरीकों से जमा कर सकते हैं पेंशनर्स अपना लाइफ सर्टिफिकेट

केंद्र सरकार ने कोरोना महामारी को देखते हुए 67 लाख पेंशनर्स के लिए लाइफ सर्टिफिकेट जमा करने के लिए कई तरह के विकल्प दिए हैं। अगर आप पेंशनर हैं और अभी तक आपका लाइफ सर्टिफिकेट जमा नहीं हुआ है, तो अब परेशान होने की जरूरत नहीं है अब आप अपने घर के नजदीकी पोस्ट ऑफिस और बैंक में भी जीवन प्रमाण पत्र जमा कर सकते हैं। आप इन तरीकों से भी लाइफ सर्टिफिकेट जमा कर सकते हैं।

कर्मचारी पेंशन योजना 1995 (EPS 95) के सभी पेंशनधारकों को पेंशन पाने के लिए हर साल 30 नवंबर तक अपना लाइफ सर्टिफिकेट यानी अपने जिंदा होने का प्रमाणपत्र (Life Certificate) जमा करना पड़ता है। हालांकि, कोरोना महामारी के कारण इस साल सरकार ने इस बार इसकी तारीख को बढ़ाकर 31 दिसंबर कर दिया। लाइफ सर्टिफिकेट पेंशनर के जीवित होने का सबूत होता है। लाइफ सर्टिफिकेट जमा नहीं करने पर पेंशन मिलना बंद हो सकता है।

1 नवंबर से 31 दिसंबर तक ऑफलाइन जमा कराने की तारीख है
1 नवंबर से 31 दिसंबर तक पेंशन पाने वालों को जीवन प्रमाण पत्र जमा करवाना होगा। हालांकि, ऑफलाइन माध्यम से जीवन प्रमाण पत्र साल में कभी भी जमा कराया जा सकता है।

जीवन प्रमाण पत्र 1 साल तक वैध होगा
पेंशनर्स अपने निकटतम सीएसी केंद्र में डिजिटल जीवन प्रमाण पत्र जमा करा सकते हैं। इसके अलावा पेंशनर्स अपनी बैंक की शाखा और उमंग ऐप पर भी लाइफ सर्टिफिकेट जमा करा सकते हैं। पेंशन भोगियों को जीवन प्रमाण पत्र इसलिए जमा कराना आवश्यक होता है, ताकि उन्हें समय पर पेंशन मिलती रहे। जीवन प्रमाण पत्र जमा नहीं कराने पर पेंशन मिलना बंद हो सकता है

आप और इन तरीकों से भी जीवन प्रमाण पत्र जमा कर सकते हैं

बैंक और पोस्ट ऑफिस में कर सकते हैं जमा
ईपीएफओ के 135 क्षेत्रीय कार्यालयों और 117 जिला कार्यालयों के अलावा ईपीएफ पेंशनधारक अब उन बैंक शाखाओं और निकटतम डाकघरों में लाइफ सर्टिफिकेट जमा कर सकते हैं, जहां से वे पेंशन ले रहे हैं।

इसके अलावा आप सामान्य सेवा केंद्र (Common Service Centre) में भी जाकर जीवन प्रमाण पत्र जमा कर सकते हैं। ईपीएफ पेंशनधारक उमंग ऐप के जरिए भी सर्टिफिकेट जमा कर सकते हैं।

उमंग ऐप का इस्तेमाल किस प्रकार करें

-गूगल प्लेस्टोर से उमंग ऐप (Umang App) डाउनलोड करें। डाउनलोड करने के बाद ऐप खुलने पर इसमें जीवन प्रमाण सर्विस सर्च करें। इसके बाद अपने मोबाइल से biometric device कनेक्ट करें।
-जीवन प्रमाण सर्विस के अंदर दिए गए जनरल लाइफ सर्टिफिकेट के टैब पर क्लिक करें।
– यहां पर पेंशन प्रमाणीकरण टैब में आपका आधार नंबर और मोबाइल नंबर दिखेगा। दोनों चीजें सही हैं तो जेनरेट ओटीपी के बटन पर क्लिक करें।
– अपने मोबाइल पर आए ओटीपी नंबर को निर्धारित जगह पर भरें और सबमिट करें। इसके बाद अपने बायोमेट्रिक डिवाइस की मदद से अपना फिंगरप्रिंट स्कैन करें।
– फिंगरप्रिंट मिलने के साथ ही डिजिटल लाइफ सर्टिफिकेट तैयार हो जाएगा। सर्टिफिकेट देखने के लिए व्यू सर्टिफिकेट पर क्लिक करें। आधार नंबर की मदद से इसे देखा जा सकता है।

हाल ही जितेंद्र सिंह जो कि केंद्रीय मंत्री है ने कहा था
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कुशल नेतृत्व में पेंशन एवं पेंशनर्स कल्याण विभाग(DoPPW) पेंशनर्स के लिए डिजिटल लाइफ सर्टिफिकेट को प्रमोट करके पेंशनर्स को आत्मनिर्भर बनाने की कोशिश कर रहा है।