May 7, 2021

अमरीकी संसद की समिति ने गलवान घाटी में हुई झड़पों के लिए चीन को दोषी ठहराया, गलवान घाटी में चीन ने रची थी साजिश

अमरीकी संसद की एक प्रमुख समिति ने कहा है कि जून में पूर्वी लद्दाख के गलवान में हुई झड़पों की साजिश चीन ने रची थी। अमरीका-चीन आर्थिक और रक्षा संबंधी समीक्षा आयोग की ताजा वार्षिक रिपोर्ट के अनुसार इस बात के सबूत हैं कि चीन सरकार ने गलवान की घटना की योजना बनाई थी, क्योंकि चीन अपने पड़ोसियों पर दबाव डालने का अभियान चला रहा था। रिपोर्ट में कहा गया है कि उपग्रह से प्राप्त चित्रों में गलवान में बड़े स्तर पर चीनी तैयारी देखी जा सकती है। इन चित्रों में झड़प से एक सप्ताह पहले एक हजार चीनी सैनिकों की मौजूदगी भी दिखाई गई है।

 

वास्तविक नियंत्रण रेखा पर 15 जून को हुई झड़प में बीस भारतीय सैनिक मारे गये थे। इस घटना में चीनी सैनिकों की भी जान गई थी। रिपोर्ट में कहा गया है कि चीन ने जापान से लेकर भारत तक और अधिकतर दक्षिण पूर्वी एशिया के देशों के फौजी या अर्धसैनिक बलों को उकसाने समेत अपने पड़ोसियों के खिलाफ दादागीरी का अभियान कई स्तरों पर शुरू किया था।

अमरीका-चीन आर्थिक और रक्षा संबंधी समीक्षा आयोग का गठन सन् 2000 में किया गया था। इसका काम चीन और अमरीका के बीच राष्ट्रीय सुरक्षा और व्यापार संबंधी मुद्दों की पड़ताल करना है। यह आयोग अमरीकी संसद को चीन के विरूद्ध विधायी और प्राशसनिक कार्रवाइयों के बारे में सुझाव भी देता है।

भारत और चीन के बीच गलवान घाटी (Galvan Valley) में सीमा विवाद (border dispute) अभी भी बना हुआ है | कई दौर की बातचीत के बाद भी अब तक कोई हल नहीं निकल सकता है | भरोसा कायम करने के प्रयासों के बीच चीन की साजिश (China’s conspiracy) भरी चालों पर अमेरिकी संसद की एक समिति ने बड़ा खुलासा (big disclosure) किया है |

US Parliament of Congress की एक शीर्ष समिति ने अपनी Annual report में खुलासा किया है कि चीन सरकार (Chinese government) ने सोच समझ कर इस साल जून में गलवान घाटी में हुई खूनी हिंसा (dastardly attack) की ‘साजिश’ रची थी | गलवान घाटी में चीन के सैनिकों (Chinese soldiers) ने रात के अंधेरे में भारतीय सैनिकों पर कायराना हमला किया था जिसमें 20 भारतीय सैनिक शहीद (martyred) हो गए थे |

रिपोर्ट में कहा गया है कि चीन सरकार (Chinese Government) के वा‍स्‍तविक नियंत्रण रेखा (Line of Actual Control) पर इस उकसावे वाले कदम को उठाने के पीछे का ठीक-ठीक कारण अभी इस साल पता नहीं चल पाया है | हालांकि चीन के इस कदम (China’s move) का संभावित कारण भारत का सीमाई इलाकों (border areas) में रणनीतिक सड़क बनाना (build a strategic road) है | इस रिपोर्ट में कहा गया है कि गलवान हिंसा (Galvan violence) से कुछ सप्‍ताह पहले ही चीन के रक्षा मंत्री वेई (China’s Defense Minister Wei) ने अपने जवानों को स्थिरता लाने के लिए युद्ध करने को उत्‍साहित किया था |