March 2, 2021

ITR: 41 फीसदी छोटे कारोबारियों ने जताई 31 दिसंबर तक रिटर्न भरने में असमर्थता

देश के 41 फीसदी छोटे कारोबारियों ने 31 दिसंबर, 2020 तक आयकर रिटर्न भरने में असमर्थता जताई है। लोकल सर्कल की तरफ से किए गए सर्वे में यह बात सामने आई है।

कारोबारियों का कहना है कि कोरोना संकट के कारण उनका कारोबार बुरी तरह से प्रभावित हुआ है। ऐसे में वह केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड (सीबीडीटी) द्वारा वित्त वर्ष 2019-20 के लिए रिटर्न भरने की अंतिम तारीख 31 दिसंबर तक रिटर्न भरना संभव नहीं है। सरकार से हम रिटर्न की तारीख बढ़ाने की मांग करते हैं। वहीं, सिर्फ 13 फीसदी व्यक्तिगत करदाताओं ने 31 दिसंबर तक रिटर्न भरने में असमर्थता जताई है। गौरतलब है कि तय तारीख तक रिटर्न नहीं भरने पर 50 फीसदी से 200 फीसदी तक पेनल्टी वसूलने का प्रावधान है। लोकल सर्कल ने 31 दिसंबर, 2020 तक आयकर रिटर्न दाखिल करने से संबंधित करदाताओं की नब्ज को समझने के लिए एक सर्वे किया है। सर्वे में व्यक्तिगत करदाताओं की ओर से 6600 से अधिक प्रतिक्रियाएं मिलीं जबकि छोटे व्यवसाय की ओर से 2300 से अधिक प्रतिक्रियाएं मिलीं।

व्यक्तिगत करदातों द्वारा दिए गए जवाब
48 फीसदी ने कहा कि इस साल के शुरू में ही रिटर्न दाखिल किया
18 फीसदी ने कहा कि पिछले कुछ महीनों में रिटर्न भरा
13 फीसदी ने कहा कि अभी तक नहीं भरा लेकिन अंतिम तारीख तक आसानी से भर देंगे
08 फीसदी ने कहा कि अभी तक नहीं भरा लेकिन आखिरी तारीख तक भरने का प्रयास करेंगे
13 फीसदी ने कहा कि 31 दिसंबर तक भरना नामुकिन