March 4, 2021

भारत के इन राज्यों में दिसंबर में ही खुले जा रहे हैं स्‍कूल और कॉलेज, देखें लिस्ट

शिक्षा मंत्रालय औऱ स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से स्कूलों को लेकर गाइडलाइंस जारी की गई हैं. कुछ राज्यों ने इन्हीं गाइडलाइंस के तहत स्कूल खोलने का फैसला किया है, जबकि कुछ राज्य अभी बच्चों को लेकर जोखिम नहीं उठाना चाहते… आइए जानते हैं स्कूल खोलने को लेकर किस राज्य का क्या है फैसला..

नई दिल्ली: देश में कोरोना का कहर जारी है. पिछले कुछ दिनों से रोजाना नए आंकड़े भले ही कम आ रहे हों लेकिन कोरोना का खतरा कम नहीं हुआ है. जल्द ही देश में कोरोना के कुल मरीजों का आंकड़ा एक करोड़ को पार कर जाएगा. आंकड़ों के अनुसार कोविड-19 के 22,065 नए मामले सामने आने के बाद देश में संक्रमण के कुल मामले बढ़कर 99,06,165 हो गए। वहीं 354 और लोगों की मौत के बाद मृतक संख्या बढ़कर 1,43,709 हो गई।

कोरोना के इस बढ़ते कहर के बीच कुछ राज्यों में स्कूलों को खोलने की कवायद शुरू हो गई है. शिक्षा मंत्रालय औऱ स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से स्कूलों को लेकर गाइडलाइंस जारी की गई हैं. कुछ राज्यों ने इन्हीं गाइडलाइंस के तहत स्कूल खोलने का फैसला किया है, जबकि कुछ राज्य अभी बच्चों को लेकर जोखिम नहीं उठाना चाहते… आइए जानते हैं स्कूल खोलने को लेकर किस राज्य का क्या है रुख….

मध्य प्रदेश- कोरोना संकट के मद्देनजर मध्य प्रदेश ने पहली से आठवीं तक की कक्षाएं अगले साल 31 मार्च तक बंद रखने का फैसला किया है. मध्य प्रदेश में नया शैक्षणिक सत्र अप्रैल 2021 से शुरू होगा. इस साल एक से आठवीं तक परीक्षाएं भी आयोजित नहीं जाएंगी. छात्रों का मूल्यांकन परियोजन कार्य के आधार पर किया जायेगा. मध्य प्रदेश में 18 दिसंबर से सभी स्कूलों में रोजाना 10वीं और 12वीं की कक्षाएं लगेंगी. इसके लिए मध्य प्रदेश स्कूल शिक्षा विभाग ने दिशा-निर्देश जारी कर दिए हैं. वहीं कक्षा 9 और 11 के स्टूडेंट्स को हफ्ते में एक दो दिन के लिए अभिभावकों की मंजूरी के साथ स्कूल आने की इजाजत दी जाएगी.

बिहार- बिहार में अभी पहली से आठवीं तक के स्कूल नहीं खोलने का फैसला हुआ है. हालांकि राज्य में बिहार माध्यमिक और उच्चतर माध्यमिक स्कूल खुले हुए हैं. वहां कोरोना से बच्चों को बचाने के लिए गाइडलाइन को फॉलो कराया जा रहा है. बिहार के शिक्षा मंत्री ने अशोक चौधरी ने कुछ समय पहले कहा था कि हमें स्कूल खोलने की कोई जल्दबाजी नहीं है. बच्चों की सेहत के साथ खिलवाड़ नहीं किया जा सकता.

झारखंड- झारखंड में आज से 10वीं-12वीं क्लास के बच्चों को स्कूल आने की अनुमति दी गई है. मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने आपदा प्रबंधन विभाग के साथ हुई बैठक के बाद यह फैसला लिया. इसके साथ ही राज्य में मेडिकल कॉलेज, डेंटल कॉलेज, नर्सिंग कॉलेज में भी पढ़ाई शुरू करने की अनुमति दी गई है. इन सभी संस्थानों में कोरोना को लेकर जारी गाइडलाइंस का पालन करना होगा.

असम- असम में 15 दिसंबर यानी कल से होस्टल खोल दिए गए हैं. शिक्षा विभाग ने इसके लिए आदेश जारी किया था. वहीं एक जनवरी से नर्सरी से छठीं तक की कक्षाएं भी लगा दी जाएंगी. सरकार ने कहा है कि केंद्र सरकार की गाइडलाइन का पूरी तरह पालन करते हुए स्कूल खोले जा रहे हैं. हालांकि बच्चों को स्कूल लाने के लिए परिवार वालों की सहमति अनिवार्य होगी.

दिल्ली- दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येन्द्र जैन ने कहा कि जब तक सरकार छात्रों की सुरक्षा को लेकर आश्वस्त नहीं हो जाती, तब तक स्कूल नहीं खोले जाएंगे. कोविड-19 की रोकथाम के लिये केन्द्र सरकार द्वारा उठाए गए कदमों के तहत देशभर में 16 मार्च से विश्वविद्यालय और कॉलेज बंद हैं. 25 मार्च को राष्ट्रव्यापी लॉकडाउन लागू किया गया था.

राजस्थान- राजस्थान में 30 नवंबर से स्कूल खाले जाने थे, लेकिन अब राज्य सरकार ने कोरोना के बढ़ते मामले देखते हुए फिलहाल स्कूल-कॉलेज बंद रखने का ही फैसला किया है. अब 31 दिसंबर 2020 तक सभी स्कूल-कॉलेज बंद रहेंगे.

हरियाणा- हरियाणा के स्कूल 13 दिसंबर से खुल गए हैं. कोरोना के कारण इस बार विशेष तैयारी के बाद स्कूलों को खोलने की योजना है. इसके तहत स्कूल में प्रवेश करने से पहले कैंडिडेट्स को अपना मेडिकल सर्टिफिकेट देना होगा, जो यह प्रमाणित करेगा कि उन्हें किसी प्रकार की कोई समस्या नहीं है. यह मेडिकल सर्टिफिकेट 72 घंटे से ज्यादा पुराना नहीं होना चाहिए. आपकी जानकारी के लिए बता दें 13 दिसंबर से केवल दसवीं और बारहवीं के लिए स्कूल खुले हैं. जबकि क्लास 9वीं और 11वीं के लिए 21 दिसंबर 2020 से स्कूल खोले जाएंगे. अभी केवल क्लास 9 से 12 तक के स्टूडेंट्स के लिए ही स्कूल खोले जा रहे हैं ताकि कोरोना से बचाव को लेकर हर सावधानी बरती जा सके.

मिजोरम- मिजोरम में इस साल के आखिर सानी 31 दिसंबर तक सभी स्कूल बंद रहेंगे. मिजोरम के शिक्षा मंत्री लालचंदामा राल्ते के मुताबिक 12वीं तक की सभी कक्षाएं कोविड-19 के मद्देनजर स्थगित की गई हैं, क्योंकि सर्दियों में महामारी के प्रसार में बढ़ोतरी की आशंका है. उन्होंने बताया कि गले साल 15 जनवरी से खोला जा सकता है लेकिन इस संबंध में राज्य की कार्यकारी समिति अंतिम निर्णय लेगी.
हिमाचल प्रदेश- हिमाचल प्रदेश में भी 31 दिसंबर तक के लिए स्कूलों को बंद रखने का आदेश जारी किया गया है. इसके साथ ही राज्य के कुछ जिलों में नाइट कर्फ्यू भी लगाया गया है. राजधानी शिमला में कोरोना के केस लगातार बढ़ रहे हैं.